Jhunjhunu Update
Jhunjhunu Update - पढ़ें भारत और दुनिया के ताजा हिंदी समाचार, बॉलीवुड, मनोरंजन और खेल जगत के रोचक समाचार. ब्रेकिंग न्यूज़, वीडियो, ऑडियो और फ़ीचर ताज़ा ख़बरें. Read latest News in Hindi.

पौधों की सुरक्षा के प्रति बेरुखी कर्मचारियों को भारी पड़ेगी

- Advertisement -

झुंझुनूं, 22 अगस्त।
जिले की ग्राम पंचायतों द्वारा गत पांच साल के दौरान नरेगा योजना में कुल 50 करोड़ रुपए खर्च कर नौ लाख पौधे लगाए गए। वर्ष 2015 से 2019 तक लगाए गए इन पौधों में से जीवित पौधों की गणना करवाने पर पांच साल बाद केवल एक लाख 22 हजार पौधे जिंदा पाए गए। लक्ष्य पूरे करने की गर्ज से लगाए गए पौधों की सुरक्षा के नाम पर परिसरों के चारों ओर खाई खोदी गई। चौकीदार रखे गए तथा टैंकर द्वारा पानी की भी व्यवस्था की गई। परन्तु  ग्राम पंचायतों के कर्मचारियों की बेरुखी के चलते पाले से बचाव के उपाय नहीं करने तथा स्थायी चौकीदार की व्यवस्था नहीं होने पर 85 प्रतिशत पौधे नष्ट हो गए। गत पांच वर्षों के अनुभव से सबक लेते हुए इस वर्ष जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रामनिवास जाट ने सभी ग्राम पंचायतों के सचिवों, सरपंचों, तथा तकनीकी अधिकारियों को पाबंद किया है कि ग्राम पंचायतों द्वारा लगाए गए पौधों को पंचायत के स्थायी स्टॉक रजिस्टर में दर्ज किया जाकर साल में दो बार सत्यापन करवाया जाए। जिस कर्मचारी के समय में पौधे नष्ट होते हैं। उसकी जिम्मेदारी तय की जाएगी। जिला परिषद द्वारा इस साल जारी सभी स्वीकृतियों में पौधों की समयबद्ध निराई गुड़ाई, टैंकर द्वारा साल में कम से कम पांच बार सिंचाई, वृक्षमित्र के रूप में स्थाई नरेगा श्रमिकों को परिसर विशेष की जिम्मेदारी तय करने तथा वित्त आयोग से प्राप्त अनुदानों से वनस्पति व सीमेंट के ट्री गार्ड की व्यवस्था की गई हैं। जिला परिषद ने ग्राम पंचायतों को प्राप्त अनुदानों से पौधारोपण तथा परिसरों की हरियाली के कार्यों को सर्वोच्च प्राथमिकता देने के निर्देश दिए हैं।

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.