Jhunjhunu Update
Jhunjhunu Update - पढ़ें भारत और दुनिया के ताजा हिंदी समाचार, बॉलीवुड, मनोरंजन और खेल जगत के रोचक समाचार. ब्रेकिंग न्यूज़, वीडियो, ऑडियो और फ़ीचर ताज़ा ख़बरें. Read latest News in Hindi.

डोर टू डोर नहीं जाएंगे स्कूल संचालक, शिक्षण शुल्क में अब नहीं मोल भाव

- Advertisement -

नवलगढ़, 9 जून।
निजी शिक्षण संस्थान संघ नवलगढ़ की साधारण सभा चैलासी रोड स्थित ड्रीम जोन पब्लिक स्कूल में अध्यक्ष नरोत्तम कालेर की अध्यक्षता में संपन्न हुई। इस दौरान अहम मुद्दों पर चर्चा की गई। जैसे फीस का निर्धारण करना किसी भी स्कूल का संचालक या विद्यालय स्टाफ अब बच्चों के प्रवेश के लिए डोर टू डोर नहीं जाएंगे और ना ही शिक्षण शुल्क में मोल भाव होगा तथा सभी निजी शिक्षण संस्थाओं गाड़ी किराया एक समान होगा, बिना टीसी के किसी भी विद्यार्थी को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। यदि कोई बच्चा दूसरे विद्यालय में प्रवेश लेना चाहता है तो उसे अपनी पुरानी स्कूल का संपूर्ण बकाया शुल्क चुकता कर वहां से टीसी प्राप्त करनी होगी। टीसी होने पर ही वह दूसरे विद्यालय में प्रवेश ले सकेगा। संघ उपाध्यक्ष कृष्णकुमार दायमा ने कहा कि इसी सत्र में स्कूल संचालकों की मर्यादा और स्वाभिमान की रक्षा के लिए हमारे साथी संचालक किसी भी अभिभावक के पास बच्चों के एडमिशन के लिए संपर्क नहीं करेंगे ना ही अपने स्टाफ का सदस्य या वाहन चालक प्रबंध कमेटी का सदस्य भी डोर टू डोर नहीं जाकर अपने स्कूल के बच्चों की एजुकेशन की क्वालिटी पर ध्यान दिया जाएगा। दायमा के इस प्रस्ताव को सभी संस्था संचालकों ने सहर्ष स्वीकार किया तथा सर्वसम्मति से माना। सुभाष बुगालिया ने अपने उद्बोधन में कहा कि हमें एक दूसरी संस्था में अध्यापन कार्य संपन्न करवाने वाले शिक्षकों का भी पूर्ण रूप से जांच परख कर ही नियुक्ति दी जानी चाहिए तथा आपसी राय मशवरा करने के बाद ही निर्णय लें। सुल्तान सैनी ने कहा कि शहरी क्षेत्र में एवं ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले वाहनों में विद्यार्थियों का गाड़ी किराया सभी संस्थाओं का एक समान हो। जिसके लिए कमेटी को आदेशित किया गया कि आप शीघ्र ही किराया निर्धारित कर सभी संस्थाओं को सोशल मीडिया के माध्यम से सूचित करे। संघ सचिव अनिल शर्मा ने प्रस्ताव रखा कि सभी विद्यालयों का शिक्षण शुल्क संस्था के द्वारा दी जा रही सुविधा के अनुसार निर्धारित हो न्यूनतम फीस चार्ट सबको दे दिया जाएगा। जिसके अनुसार ही शुल्क देय होगा। आगामी सत्र में सभी शिक्षण संस्थाओं में निर्धारित शुल्क लिया जाएगा। शुल्क में किसी प्रकार का कोई समझौता या मोल भाव नहीं किया जाएगा। यदि विद्यार्थी एक विद्यालय से दूसरे विद्यालय में प्रवेश लेने की मंशा रखता है, तो उसे अपने पूर्व विद्यालय से टीसी प्राप्त करनी होगी तथा बकाया शिक्षण शुल्क जमा करवाना ही होगा। बिना टीसी के कोई भी विद्यालय किसी भी विद्यार्थी को किसी भी सूरत में एडमिशन नहीं देगा। संघ के द्वारा इन सभी मुद्दों पर सर्वसम्मति से सहमति जताई गई तथा इसी सत्र से यह सारे नियम सभी संस्थाओं पर लागू किए जाएंगे। यदि कोई संस्था संचालक नियमों की अवहेलना करता है तो अनुशासन कमेटी उस संस्था के विरुद्ध उचित कार्यवाही करेगी। संस्था संचालकों ने कहा कि स्थिति सामान्य होने के उपरांत जब हम इस वैश्विक महामारी से उबर जाएंगे और केंद्र सरकार की एडवाइजरी के अनुसार जब विद्यालय संचालित किए जाएंगे तो विद्यालय की नियमित रूप से थर्मल स्ट्रेनिंग, मास्क, सैनिटाइजर बच्चों के स्वास्थ्य का पूर्ण ध्यान रखते हुए अध्यापन करवाया जाएगा। इस मीटिंग के दौरान भी देखा गया कि मीटिंग में शामिल होने वाले सभी संस्था संचालकों की स्क्रीनिंग भी की गई और सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए मीटिंग संपन्न कराई गई। अध्यक्ष नरोत्तम कालेर ने सभी संस्था संचालकों से एकजुट होकर अपने इस अस्तित्व को बचाए रखने के लिए नियमों का पालन करने का आह्वान किया तथा संगठन को मजबूती प्रदान करने की बात कही। अनुशासन समिति में नरोत्तम कालेर, कृष्णकुमार दायमा, अनिल शर्मा, सुशील मील, नागरमल बलौदा, सुभाष बुगालिया, श्रीराम जांगिड़, हजारीलाल यादव, प्रदीप जांगिड़, सुनील शर्मा, मनोज गुर्जर, सुल्तान सैनी, धर्मपाल बुगालिया, संजय बारी, रमाकांत दाधीच, रविंद्र शर्मा, श्रीकांत यादव को मनोनीत किया गया है। मीटिंग में राजेंद्र सैनी, प्रवीण शर्मा, मनोज यादव, राकेश सैनी, जमीर आरिफ, आलोक सैनी, प्रहलाद सैनी, डालचंद सीगड़, कैलाश सैनी, दीपचंद कुलदीप, तंवरसिंह, महेंद्रसिंह, मंजू आर्य, पूर्णमल सैनी, मुकेश जाखड़, नरोत्तम चौहान, मुकेश यादव, मयंक सैनी, विकास यादव, बाबूलाल सैनी, अशोक जांगिड़, प्रदीप जांगिड़, सुरेन्द्रसिंह, विक्रमसिंह, कपिल चौधरी, विद्याधर, हज़ारीलाल, धर्मपाल, राकेश जोशी, रतनलाल, सांवरमल, रामकिशोर सहित पांच दर्जन स्कूल संचालकों की उपस्थिति रही।

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.