Jhunjhunu Update
Raho Update Jhunjhunu Se

व्यापारियों ने प्रतिष्ठान बंद रखें, शहीदों को दी श्रद्धाजंलि

मंडावा, 16  फरवरी। आज देश ने कई वीर सपूतों को खोया है और इस दुख की घड़ी में मंडावावासी भी उनके परिजनों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है। पुलवामा में शहीद हुए देश के सपूतों की शहादत का बदला लेने की मांग अब जोरों से उठने लगी है। कस्बे के व्यापारी भी एकजुट नजर आए और सभी ने आज अपने प्रतिष्ठान बंद रखकर शहीदों को श्रद्धाजंलि दी। पहली बार बंद का व्यापक असर देखा गया तथा फतेहपुर बस स्टैंड, मुख्य बाजार, सुभाष चौक, मुकुंदगढ बस स्टैंड, बिसाऊ चौराहे सहित अन्य स्थानों पर दुकानदारों ने अपने प्रतिष्ठान बंद रखकर शहीदों को सच्ची श्रद्धाजंलि देते हुए पीएम मोदी से अपील करते हुए कहा कि अब पाक सिर्फ युद्ध की भाषा समझेगा व उसको सबक सिखाना ही एकमात्र लक्ष्य भारत का होना चाहिए। साथ ही घायल जवानों के शीघ्र स्वास्थ्य होने की कामना भी की। इसी क्रम में शनिवार को हैरिटेज सिटी मंडावा में चल रही तेलगू फिल्म शूटिंग की यूनिट के सभी सदस्य निर्देशक तीरू गारू, लैंड निर्देशक आलम खान, अरबाज खान, भागीरथ शर्मा, कमलसिंह राठौर, स्थानीय कॉर्डिनेटर दशरथसिंह व संजय मील सहित लोगों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद हिंदुस्तान जिंदाबाद के नारे लगा कर अपना अपना आक्रोश व्यक्त किया। कैंडल जलाकर दो मिनट का मौन रख कर देश के शहीदों को श्रद्धाजंलि दी एवं सरकार से मांग की इस घटना में जो भी आतंकियों का हाथ हैं। उनका सफाया कर उनको शरण देने वालों को भी सबक देना चाहिए। पुलवामा में शहीद हुए देश के सपूतों को सुभाष चौक पर कस्बेवासियों द्वारा दो मिनट का मौन रखकर व कैंडल जलाकर श्रद्धाजंलि दी गई। इस अवसर पर आक्रोशित लोगों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए पीएम मोदी से पाकिस्तान में घुसकर आतंकियों का सफाया करने की अपील की। श्रद्धाजंलि सभा में कस्बे के सैंकड़ों लोग उपस्थित थे तथा घटना की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि अब आर पार लड़ाई का वक्त आ चुका है। भाजपा किसान मोर्चा के पूर्व जिलाध्यक्ष दिनेश धाभाई ने इस दौरान कहा कि देश के जवानों ने सरहद की सीमा पर 24 घंटे विषम परिस्थितियों में अपनी ड्यूटी को अंजाम देकर देश की रक्षा की हैं, और जब भी दुश्मन ने भारत की और आंख उठाई तो उसका मुंह तोड़ जवाब भी यहां के लाड़लों ने दिया हैं। व्यापार मंडल अध्यक्ष रामस्वरूप चोपदार ने कहा की भारतीय जवानों ने कभी भी पीठ पर गोली नहीं खाई हैं और ना ही उन्होंने मां के दूध को लज्जित होने दिया है। शहीद किसी जाति व धर्म का नहीं होता। वह देश की धरोहर होता हैं। हमें शहीदों एवं उनके आश्रितों के मान एवं सम्मान में किसी तरह की कमी नहीं रखनी चाहिए। इस दौरान जयप्रकाश काला,  विजय देवड़ा, पंकज, पशुपति शर्मा, मधु स्वामी, कृष्ण चावला, भंवर सब्जी फरोश, आलोक कालोया, सत्तार, जितेंद्र नरुका, राजेश रणजीरोत, संजय परिहार, जितेंद्र सुरोलिया, जाकिर रंगरेज, पालिका उपाध्यक्ष छोटेलाल सैनी, सुभाष टेलर, सत्यनारायण शर्मा, दीपक खांडल, भाजपा मंडल अध्यक्ष विजेंद्र सैनी, नवाब खत्री, पार्षद बनवारीलाल सैनी अब्दुल रहमान मोम सहित काफी संख्या में कस्बे के मौजिज लोग उपस्थित थे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More