Jhunjhunu Update
Jhunjhunu Update - पढ़ें भारत और दुनिया के ताजा हिंदी समाचार, बॉलीवुड, मनोरंजन और खेल जगत के रोचक समाचार. ब्रेकिंग न्यूज़, वीडियो, ऑडियो और फ़ीचर ताज़ा ख़बरें. Read latest News in Hindi.

लॉकडाउन हुआ तो बीडीके से निकलकर डेढ़ लाख से अधिक जरूरतमंदों के डेरों में पहुंची ‘नेकी की रसोई’

- Advertisement -

झुंझुनूं, 2 जून।
करीब डेढ़ साल से राजकीय भगवानादास खेतान अस्पताल में संचालित नेकी की रसोई कोविड-19 में भी जरूरतमंदों के लिए बड़ा सहयोग कर रही है। लॉकडाउन में नेकी रसोई अब बीडीके अस्पताल में मरीजों की बजाए शहर में विभिन्न जगहों पर बसें जरूरतमंदों के डेरो तक पहुंच रही है। दो माह से लगे लॉकडाउन के दौरान नेकी की रसोई की ओर से करीब डेढ़ लाख से अधिक झुग्गी झोंपड़ी, कच्ची बस्तियों एवं जरूरतमंद लोगों तक खाना पहुंचाया जा चुका है और अभी भी कार्य सुचारू रूप से जारी है। रसोई के संचालन देवकीनंदन कुमावत बताते हैं कि जब कोरोना के चलते लॉकडाउन लागू किया गया तो बीडीके अस्पताल में संचालित नेकी की रसोई शहर में गरीबी से जूझ रहे लोगों को बीच पहुंचकर खाना पहुंचाने का काम शुरू किया और आज तक लगभग डेढ़ लाख से अधिक लोगों तक खाना पहुंचाया जा चुका है। कुमावत बताते हैं कि इसके लिए शहर में अंसारी कॉलोनी, चुरू बाईपास, बाकरा रोड एवं झुंझुनूं शहर के निजी होटल में नेकी की रसोई चलाई जा रही है। जिसमें भामाशाह खूब सहयोग कर रहे हैं।
रोज 50 घरों से लेते हैं तैयार भोजन
देवकीनन्दन कुमावत ने बताया कि लॉकडाउन में जरूरतमंदों के लिए सुबह पचास घरों से तैयार भोजन इकट्ठा भी करते हैं। जिसमें शहरवासी बढ़ चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं। भोजन पैकेट के अलावा  लगभग 400 राशन किट, पांच हजार बिस्किट पैकेट भी बांटे जा चुके हैं।
यह है टीम में शामिल
इस कार्य के लिए नेकी की रसोई संचालक देवकीनंदन कुमावत सहित साजिद अली, कमलेश मीणा, महेश कुमावत, नरेश मीणा एवं मोहम्मद फारूख आदि लोग दिन रात भोजन व्यवस्था करने में सहयोग कर रहे हैं।

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.