Jhunjhunu Update
Raho Update Jhunjhunu Se

मध्यप्रदेश का ईनामी बदमाश अपने तीन साथियों के साथ गिरफ्तार

नरहड़ में काटने आया था फरारी

झुंझुनूं, 23 जून।  झुंझुनूं पुलिस ने एक बड़ी कार्रवाई करते हुए मध्यप्रदेश के 30 हजार रुपए के ईनामी बदमाश को गिरफ्तार किया है। जो हर वारदात में फायर करने से नहीं चूकता और गत दिनों ही उसने मध्यप्रदेश में डबल मर्डर किया है। जी, हां मध्यप्रदेश का ईनामी बदमाश उज्जवल गुप्ता गिरफ्तार हो गया है। जिसे राजस्थान की झुंझुनूं पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उज्जवल गुप्ता की उम्र महज 20 साल है। लेकिन इरादे बड़े ही खूंखार है। जी, हां उज्जवल गुप्ता, यह नाम मध्यप्रदेश पुलिस के लिए भी कोई पुराना नाम नहीं है। दो महीने में ही उज्जवल गुप्ता ने जो वारदातें की। उससे मध्यप्रदेश पुलिस की नींद उड़ी हुई थी। हाल ही में पिछले माह वसूली करने पहुंचा उज्जवल और उसके तीन साथियों ने एक ढाबे के मालिक को गोली मार दी। वह तो बच गया। लेकिन ताबड़तोड़ फायरिंग में मौके पर दो महिलाओं को मौत की नींद सुला दी गई। जिसके बाद मध्यप्रदेश पुलिस ने उज्जवल के तीन साथियों को तो गिरफ्तार कर लिया। लेकिन उज्जवल गच्चा देकर भाग गया और भागते भागते पहुंच गया झुंझुनूं के नरहड़ में। जहां पर वह फरारी काटने के फिराक में था। लेकिन झुंझुनूं पुलिस ने उज्जवल को दबोच ही लिया।

दो महीने पांच बार फायरिंग, दो महिलाओं को सुलाया मौत की नींद

उज्जवल के दो महीनों की वारदातों पर गौर करें तो 20 साल के उज्जवल ने जो भी वारदात की। वो पैसों के लिए की और लूटपाट के इरादे से की। लेकिन एक खास बात और थी कि जिसने भी विरोध किया। उसका जवाब उज्जवल ने गोलियों से ही दिया। यही कारण है कि उज्जवल के खिलाफ अब तक मध्यप्रदेश में जो पांच मामले दर्ज है। उनमें हत्या के प्रयास और आम्र्स एक्ट की धारा भी लगी है। ऐसे में झुंझुनूं पुलिस के पास जब इनपुट आया कि उज्जवल झुंझुनूं हो सकता है। तो उनके सामने भी सबसे बड़ी चुनौती यही थी कि उज्जवल मुंह से नहीं बल्कि गोलियों से ही बात करता है।

इन पांच वारदातों को कबूला, सभी में फायरिंग

उज्जवल ने जिन मामलों को कबूला है।उनमें नौ अप्रेल को सतना के सिविल लाइन में खाम्जाखुजा टोल प्लाजा पर आनंदकुमार पर फायरिंग कर उसके साथ लूट करना, 24 अप्रेल को सतना जिले के ही अमरपाटन थाना इलाके में सुकरूकोल नाम के व्यक्ति से लूट और फायरिंग, 29 अप्रेल को थाना उचेहरा में सवितेंद्र नामक व्यक्ति के साथ लूट और फायरिंग, एक मईको सिविल लाइन में ही ललित मिश्रा पर फायरिंग तथा सात जून को सीतपुरा थाना नागोद में बाबा ढाबा में मालिक अंगद जोशी व उसकी पत्नी मायादेवी व चंपादेवी पर फायरिंग। जिसमें मायादेवी और चंपादेवी की मौके पर ही मौत हो गई।

सतना के जिला बदर, दरगाह में प्रसाद खाकर काट रहे थे जीवन

झुंझुनूं पुलिस ने इस मामले में ना केवल उज्जवल को पकड़ा है। बल्कि सतना जिले से जिला बदर किए जा चुके अच्छु उर्फ आशीष मंधानी एवं शैलेंद्र प्रतापसिंह उर्फ शक्तिसिंह को भी गिरफ्तार किया है। जो नरहड़ में झाड़ीवाला बाबा की दरगाह में शरण लिए हुए थे। हालांकि उज्जवल से दोनों ही जिला बदर आरोपियों का कोई संपर्क नहीं था। लेकिन इनके बीच की कड़ी थी शुभम मिश्रा। जो अच्छू व शैलेंद्र के साथ-साथ उज्जवल को जानता है। शुभम ही उज्जवल को फरारी काटने के लिए नरहड़ लेकर आया और अच्छू और शैलेंद्र ने उसे पनाह दी। लेकिन पनाह लेने के कुछ घंटे बाद ही झुंझुनूं पुलिस ने चारों को गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है सतना के दोनों जिला बदर नरहड़ में दरगाह में प्रसाद खाकर ही जीवन काट रहे थे।

एसपी ने कहा, झुंझुनूं नहीं बनेगी शरणस्थली

एसपी गौरव यादव ने मामले का खुलासा करते हुए बताया है कि झुंझुनूं पुलिस ने तय कर लिया है कि जिले में क्राइम हो, यह जरूरी नहीं। लेकिन बाहर के क्रीमिनल झुंझुनूं को अपनी शरणस्थली बनाए और हर वक्त क्राइम होने का डर बना रहा। यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। यही कारण है कि जब इनपुट मिला तो बिना कोई देर किए 30 हजार के ईनामी बदमाश को पकड़ा गया। वहीं गत दिनों दिल्ली में क्राइम कर झुंझुनूं आए गार्ड कंपनी के संचालक और उसके साले को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया था।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More