Jhunjhunu Update
Raho Update Jhunjhunu Se

मंडावा क्षेत्र के 103 गांव आज भी पीने के पानी की समस्या से जूझ रहे है :इंजी. ढूकिया

झुंझुनूं, 22 जुलाई।मंडावा में उप चुनाव प्रस्तावित है।जिसे लेकर दावेदार भी सामने आने लगे है।कांग्रेस से फिलहाल निष्कासित चल रहे जिला परिषद सदस्य इंजी. प्यारेलाल ढूकिया भी इनमें से एक है।हालांकि वे फिलहाल कांग्रेस से निष्कासित है।लेकिन चर्चा है कि जल्द ही पार्टी उन्हें ना केवल पार्टी में शामिल कर सकती है।बल्कि नया और निर्विवाद चेहरे के रूप में उन्हें चुनाव मैदान में भी उतार सकती है। इसी के तहत हमारे संवाददाता अकबर मंसूरी ने की जिला परिषद सदस्य इंजी. प्यारेलाल ढूकिया के साथ सीधी बातचीत, जिसके अंश कुछ इस प्रकार है-

सवाल: आपने राजनीति में आने की क्यों सोची?

जवाब: राजस्थान प्रदेश में भाजपा व कांग्रेस दोनों पार्टियों का शासन रहा है फिर भी मंडावा विधानसभा क्षेत्र मूलभूत सुविधाओं का अभाव देखकर राजनीति में आने की सोची। मैं जानता हूं कि विकास के लिए सरकार दोषी नहीं होती है, विकास के लिए उस क्षेत्र का विधायक जिम्मेदार होता है। पूर्व विधायकों में जज्बा, लग्न व समर्पण की भावना नहीं थी। विधायक का काम भय दिखाकर वोट लेना नहीं होता है। विधायक का काम पीडि़त व शोषित की मदद करना होता है। मंडावा विधानसभा क्षेत्र के युवा आज भी अकादमिक महाविद्यालय की मांग कर रहे है, जबकि शिक्षा के स्तर से झुंन्झुनूं में राजकीय विश्वविद्यालय होना चाहिए था।

सवाल: आपकी राजनीति के क्षेत्र में पृष्ठ भूमि क्या है।

जवाब:  मैं शुरू से ही कांग्रेस विचारधारा से जुड़ा हंू। मेरी माता हरकौरीदेवी व भाभी सुंदर देवी ग्राम पंचायत मेहरादासी की सरपंच रह चुके है तथा छोटे भाई की पत्नी नगर परिषद में कांग्रेस की टिकट पर पार्षद रही है। मैं वर्तमान में कांग्रेस की टिकट पर जिला परिषद सदस्य हंू।

सवाल:  आपको पार्टी ने निष्कासित कर रखा है क्या पार्टी आपकों मिलाने जा रही है?

जवाब: विधानसभा चुनाव 2018  के ठीक दो दिन पहले बिना नोटिस दिए बिना किसी भी ठोस कारण के ना होने के बावजूद तानाशाही रवैये से मंडावा क्षेत्र की उम्मीदवार रीटा चौधरी ने वीटो का इस्तेमाल कर पार्टी से निष्कासित करवा दिया। यह बात तो पार्टी ही जाने, मैं तो उम्मीद कर रहा हूं कि पार्टी को मिलाना चाहिए। पार्टी मुझे मिलाए या नहीं, लेकिन सेवा कांग्रेस के कार्यकर्ता के रूप में ही करनी है। जिसके लिए मंडावा विधानसभा चुनावों में भी लगा रहा। झुंझुनूं लोकसभा चुनावों में रहा और आगे भी कांग्रेस के लिए ही वोट मांगेंगे।

सवाल:  आप किस पार्टी से चुनाव लडऩा चाहते है तथा क्यों?

जवाब: मंडावा विधानसभा क्षेत्र झुंझुनूं जिले में सबसे पिछड़ा क्षेत्र है। मूलभूत सुविधाओं का अभाव है। मलसीसर क्षेत्र में पीने के पानी की प्रमुख  समस्या है, सडक़ो का अभाव है। चिकित्सा सेवाओं का अभाव है। शिक्षा के नाम पर मात्र एक कॉलेज खुला है, लेकिन उसमें सिर्फ कला संकाय है। चिकित्सा शिक्षा, तकनीकि शिक्षा व न्यायालय के नाम पर शून्य है। मंडावा क्षेत्र की जनता से मैं आठ वर्षों से लगातार संपर्क में हूं। वर्तमान में कांग्रेस के चुनाव चिह्न से मैं जिला परिषद सदस्य हूं। मैं कांग्रेस की टिकट पर उपचुनाव लडऩा चाहता हूं। सुख दु:ख की घड़ी में जनता के साथ जुड़ा रहा हूं।

सवाल:  क्षेत्र की जनता आपको वोट क्यों देगी?

जवाब:  सही कहा आपने, ‘मैं किसी राजनेता का बेटा नहीं हूं, मैं एक किसान का बेटा हूं।’ यह क्षेत्र की जनता अच्छी तरह समझती है कि मैं जिला परिषद सदस्य रहते हुए मेरे क्षेत्र में सर्वाधिक विकास कार्य करवाए, क्षेत्र की जनता के दु:ख दर्द में साथ खड़ा मिला। क्षेत्र की समस्याएं प्रमुख रूप से बिजली, पानी, मलसीसर डेम टूटने, किसानों का बीमा क्लेम आदि को साधारण सभा की मीटिंग में अच्छे ढंग से उठाया तो जनता को विश्वास है कि ढूकिया को विधायक बनाएंगे तो राजस्थान विधानसभा में क्षेत्र की समस्याएं अच्छे ढंग से जनता की आवाज बनकर रख सकेंगे। क्योंकि मैं जिस काम में लगता हूं पूरे मन व लग्न से लगता हंू। पानी के लिए डेम मलसीसर में बना, दुर्घटना मलसीसर वालों ने झेली व पानी दूसरे क्षेत्र के लोगों को मिल रहा है। मलसीसर तहसील के लोगों को पीने के पानी से वंचित कर रखा है।

सवाल:  आप विधायक बनते हैं तो क्षेत्र की कौनसी प्रमुख समस्याओं का समाधान करेंगे?

जवाब: झुंझुनूं जिले में मेडिकल कॉलेज, मलसीसर कॉलेज में विज्ञान व वाणिज्य संकाय खुले, बिसाऊ व मंडावा में तहसील, सरकारी कॉलेज, कृषि उपज मंडी, न्यायालय, मंडावा पंचायत समिति बने, प्रत्येक गांव ढाणी में बिजली पानी व सडक़, सैनिकों के लिए इसीएचएस क्लीनिक, कैंटीन सुविधा प्रत्येक गांव में सब सेंटर व पंचायत मुख्यालय पर पीएचसी व क्षेत्र में सैटेलाइट अस्पताल खोलना मेरी प्राथमिकता रहेगी। आज मंडावा व बिसाऊ थाना पुलिस किसी व्यक्ति को धारा 151 में गिरफ्तार कर लेती है तो वहां पर कोई जमानत लेने वाला अफसर नहीं है। पुलिस उस व्यक्ति को झुंझुनूं लेकर आती है पीछे-पीछे उसके परिजन जाते हैं कितनी परेशानी व पीड़ा होती है वो पीडि़त परिवार ही जानता है। लेकिन दुर्भाग्य है कि कभी कोईविधायक ने कभी इस ओर ध्यान नहीं दिया।

सवाल:  मंडावा क्षेत्र वासियों को आप क्या संदेश देना चाहोगे?

जवाब:  मंडावा विधानसभा क्षेत्र के युवा व किसानों को कहना चाहूंगा, कि आप पीछे की तरह फैसला लेते रहेेंगे तो भावी पीढ़ी आपको माफ  नहीं करेगी। आपको दलगत राजनीति से ऊपर सोचकर वोट देना होगा, क्योंकि आपके वोट से व्यक्ति राजा बनता है। पीछे की परंपराओं को तोडऩा होगा कि यह उस राजनेता का बेटा व बेटी है। क्षेत्र में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। धर्म जाति से ऊपर सोचकर नए चेहरे को चुनकर भेजा जाएगा तो मंडावा विधानसभा क्षेत्र में विकास की संभावनाएं बनेगी।पूर्व विधायकों ने कितना राजधर्म निभाया है वो आपके सामने है। क्षेत्र के 103 गांव ढाणी आज भी पीने के पानी समस्या से जूझ रहे है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More