Jhunjhunu Update
Raho Update Jhunjhunu Se

बैठक में उदयपुरवाटी से विधानसभा चुनाव लडऩे वाले भगवानाराम सैनी ने कहा-

सीएम तक सुना आया दुखड़ा, यहां मेरे कहने पर तो ना अधिकारी और ना ही कर्मचारी लगते है

झुंझुनूं, 14 जुलाई। झुंझुनूं में रविवार को हुई जिला कांग्रेस कमेटी की बैठक में बसपा विधायक राजेंद्रसिंह गुढ़ा को लेकर खूब चर्चा हुई।दरअसल बैठक में उदयपुरवाटी से कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लडऩे वाले भगवानाराम सैनी ने अपना दुखड़ा बताया। उन्होंने कहा कि उनके क्षेत्र में बड़े से बड़ा अधिकारी हो या फिर छोटे से छोटा कर्मचारी। सभी के सभी बसपा विधायक राजेंद्रसिंह गुढ़ा के कहने पर लग रहे है। वे इस मामले में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत तक से मिल चुके है। लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही और इसके चलते उदयपुरवाटी में कांग्रेस कमजोर हो रही है। भगवानाराम सैनी के इन खुले आरोपों के बाद एक बार फिर झुंझुनूं के कांग्रेस में सियासी भूचाल आ गया है। भगवानाराम सैनी के बाद अन्य कार्यकर्ताओं ने भी सरकार होने के बावजूद अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा उनकी बात ना मानने के आरोप लगाए गए। जिसके बाद कांग्रेस जिलाध्यक्ष डॉ. जितेंद्रसिंह ने कार्यकर्ताओं की बात को तवज्जो दिलवाने के लिए तो हामी भरी। लेकिन उदयपुरवाटी मामले में उन्होंने भी किनारा कर लिया। उन्होंने कहा कि बसपा ने प्रदेश में सरकार को समर्थन किया है। इसलिए उनका सम्मान भी जरूरी है। साथ ही भगवानाराम सैनी के आरोपों को स्थानीय मुद्दा बताते हुए उसे तवज्जो नहीं दी। इसके अलावा बैठक में मंडावा उप चुनावों को लेकर चर्चा हुई। जिसके लिए तैयारियां शुरू करने का आह्वान किया गया। बैठक में पिलानी विधायक जेपी चंदेलिया, मंडावा की पूर्व विधायक रीटा चौधरी तथा कांग्रेस नेता सतवीर कृष्णियां समेत अन्य ने विचार रखे।

डॉ. शर्मा परसरामपुरा में, पर नहीं आए बैठक में

जिला कांग्रेस कमेटी की बैठक में कई बार हंगामा भी हुआ।लेकिन खास बात यह भी रही कि झुंझुनूं विधायक बृजेंद्र ओला और नवलगढ़ विधायक डॉ.राजकुमार शर्मा गायब रहे।ओला तो विदेश दौरे पर है।लेकिन डॉ. शर्मा तो परसरामपुरा में जनसुनवाई कर रहे थे।परंतु वे और उनके समर्थक भी बैठक से गायब ही दिखाई दिए। साथ ही बैठक के मुख्य अतिथि और संगठन के झुंझुनूं प्रभारी शिक्षा मंत्री गोविंदसिंह डोटासरा भी बैठक में नहीं पहुंचे।

बैठक के दौरान होता रहा हंगामा

ैठक के दौरान हंगामा भी होता रहा और कई पार्टी पदाधिकारी व सदस्य एक-दूसरे पर जमकर आरोप-प्रत्यारोप लगाते दिखे। सबसे ज्यादा उग्र मंडावा विधानसभा के कार्यकर्ता दिखे। जहां पर निकट भविष्य में जल्द ही उप चुनाव होने वाले हैं। बैठक में पूर्व विधायक व टिकट की प्रबल दावेदार रीटा चौधरी भी मौजूद रहीं। उन्होंने मंच से बोलते हुए कहा कि मंडावा विधानसभा हमेशा से पार्टी का गढ़ रहा है, लेकिन आपसी फूट की वजह से सीट कांग्रेस के हाथ से निकल गई। इसलिए अब भी हम एकजुट रहें तो वापस सीट जीत सकते हैं।

अध्यक्ष ने गुटबाजी को नकारा

कांग्रेस कमेटी के जिलाध्यक्ष व खेतड़ी विधायक डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि पार्टी में कोई गुटबाजी नहीं है वहीं, कार्यकर्ताओं के असंतोष के सवाल पर उन्होंने कहा कि वे खुद जिला स्तर के अधिकारियों से बात करेंगे कि न केवल आम जन, बल्कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं को भी पूरे सम्मान के साथ सुना जाएगा।

कृष्णियां दिखाई दिए दम-खम के साथ

मंडावा विधानसभा के उप चुनावों को लेकर एक बार फिर युवा कांग्रेस नेता सतवीर कृष्णियां पूरे दमखम के साथ दिखाई दिए।बैठक के दौरान उनके समर्थकों ने कई बार सतवीर कृष्णियां के नारे लगाए और कहा कि इस बार उप चुनाव में नया चेहरा ही मंडावा में चुनाव जीता सकता है।आपको बता दें कि लगातार सक्रियता के चलते सतवीर कृष्णियां भी कांग्रेस की टिकट दावेदारों में है।वे वर्तमान में डीसीसी में महामंत्री भी है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More