Jhunjhunu Update
Raho Update Jhunjhunu Se

पर्यावरण संरक्षण के लिए लोगों में जागरूकता फैलाएं : पूनियां

मंडावा की नेशनल स्कूल में हुई पर्यावरण संरक्षण पर व्याख्यामाला

मंडावा, 27 दिसंबर। स्थानीय फतेहपुर रोड स्थित नेशनल पब्लिक उच्च माध्यमिक विद्यालय मंडावा में गुरूवार को पर्यावरण संरक्षण विषय पर व्याख्यानमाला का आयोजन किया गया। लक्ष्मणगढ़ कॉलेज प्राचार्य जेपी कड़वासरा की अध्यक्षता में आयोजित इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि स्काउट गाइड एमटी रामदेवसिंह गढ़वाल थे। संस्था व्यवस्थापक इंजी. प्रणव पूनियां, शिक्षाविद् भोलासिंह यदुवंशी, समाजसेवी तुलसीराम यादव, सामाजिक कार्यकर्ता संजय शर्मा आदि मंचस्थ अतिथि थे। व्याख्यानमाला में छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए संस्था व्यवस्थापक इंजी. प्रणव पूनियां ने पेड़ लगाने, प्लास्टिक बैग्स का उपयोग न करने, बिजली, पानी तथा अन्न बचाने की अपील की है। पूनियां ने पर्यावरण संरक्षण के प्रति सचेत रहने और आम लोगों में जागरूकता फैलाने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि हमें सीमित मात्रा में उपलब्ध प्राकृतिक संसाधनों का विवेकपूर्ण उपयोग करना चाहिए। ताकि अपनी भावी पीढ़ी को सुखद वातावरण दे सकें। यदि हमारा पर्यावरण नहीं बचेगा तो हम भी नहीं बचेंगे। पर्यावरण की अनदेखी का ही परिणाम है कि इन दिनों प्राकृतिक खतरे बढ़ते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह हम सब की सामूहिक जिम्मेदारी है कि हम प्रकृति को जहां तक संभव हो, उसके मूल स्वरूप में रखने की कोशिश करें। व्याख्यानमाला में स्काउट गाइड एमटी रामदेवसिंह गढ़वाल, लक्ष्मणगढ़ कॉलेज प्राचार्य जेपी कड़वासरा, शिक्षाविद् भोलासिंह यदुवंशी ने भी पर्यावरण संरक्षण से संबंधित छात्र-छात्राओं को उपयोगी जानकारी देते हुए अपने जन्म दिन पर एक पेड़ लगाकर उसकी परवरिश करने की अपील की। इस अवसर पर चंद्रसिंह, प्रमोद जांगिड़, धर्मेंद्रसिंह, मनोजकुमार, रणवीर गढ़वाल, पुरूषोत्तम शर्मा, दिनेश दईया, महेंद्रसिंह, नरेश शर्मा, इमरान अली, पीयूष रॉयल, सुरेशकुमार, रमेशकुमार, मंजर खान, आशा, पिंकी कंवर, पूजा, अनिता सोनी सहित स्कूल स्टाफ व छात्र-छात्राएं उपस्थित थे। संचालन सज्जनसिंह कमालसरिया ने किया। अंत में कैलाशसिंह राठौड़ ने सभी का आभार व्यक्त किया।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More