Jhunjhunu Update
Raho Update Jhunjhunu Se

जल शक्ति अभियान के तहत स्काउट गाइड ने किया आयोजन

जल से है कल, भविष्य जीवन के लिए जल बचाएं : पिलानियां

झुंझुनूं, 25 जुलाई। राजस्थान राज्य भारत स्काउट गाइड जिला मुख्यालय झुंझुनूं के तत्वावधान में जिला स्तरीय स्काउट गाइड प्रशिक्षण शिविर में तीसरे दिन एसीईओ प्रतिष्ठा पिलानियां के मुख्य आतिथ्य एवं सीडीईओ घनश्यामदत्त जाट की अध्यक्षता में केंद्र सरकार के योजनान्तर्गत जिला स्तरीय जल शक्ति अभियान पर स्काउट गाइड के लिए कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस अवसर पर एसीईओ प्रतिष्ठा पिलानियां ने कहा कि वर्तमान समय में जल को बचाना बहुत ही महत्वपूर्ण है। क्योंकि भविष्य जीवन के लिए यह उपयोगी साबित हो, उन्होंने कहा कि जल है तो कल है, अर्थात पानी के बिना जीवन संभव नहीं है। पिलानियां ने कहा कि वायु, जल, भोजन एवं आवास मानव जीवन के सबसे महत्वपूर्ण है, इनके बिना मनुष्य जीवन दूभर है।पानी बचाना क्यों महत्वपूर्ण है इस पर भी बारीकी से प्रकाश डाला साथ ही पानी बचाने की अनेक विधियों के बारे में विस्तारपूर्वक बताया। उन्होने कहा कि वर्षात् के जल का संग्रहण संचयन किया जाना चाहिए। घरों में वर्षात् के जल को वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम से संचयन करें, अनावश्यक नल खुला नहीं छोड़े , नल टपकता हो तो तुरंत ठीक करवा देवें। इतना ही नहीं स्काउट्स गाइड्स से भी चर्चा करके पानी बचाने के उनके भी आइडिया एवं विचार जाने। स्काउट्स गाइड्स ने भी चर्चा में भाग लेकर पानी बचाने, संग्रहण एवं संचयन की विधियों के बारे में सोचा एवं बताया। इस दौरान एसीईओ पिलानियां ने अधिकाधिक पौधारोपण के लिए प्रेरित किया। इस अवसर पर सीडीईओ घनश्यामदत्त जाट ने कहा कि पानी प्रकृति प्रदत्त उपहार है। इसको भविष्य की पीढ़ी के लिए बचाए रखना जरूरी है। पानी अनमोल धरोहर है। इस दौरान जाट ने स्काउटिंग गाइडिंग द्वारा जिले में किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि स्काउटिंग स्वावलंबन का आधार है। यहां पर देश के लिए मिनी आर्मी तैयार की जा रही है।जो देश की आंतरिक व्यवस्थाओं को चलाने में, समाज सेवा में, राष्ट्रउत्थान में, सुनागरिक बनाने में योगदान देते है। इस दौरान कार्यक्रम अधिकारी समसा नवीनकुमार ने स्काउटिंग गाइडिंग को शिक्षा विभाग की महत्वपूर्ण सहशैक्षिक गतिविधि बताते हुए कहा कि यहां सिखा गया जीवनोपयोगी साबित होगा। शिविर प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए सीओ गाइड सुभिता गिल ने बताया कि शिविर में जिलेभर से 149 स्काउट, 38  गाइड तथा 20 सदस्यीय संचालक दल भाग ले रहे है तथा बताया कि नेशनल ग्रीन कोर योजनान्तर्गत जल शक्ति  अभियान को बेहतरीन तरीके से संचालित किया जाएगा एवं प्रति इको क्लब विद्यालय 40 पौधे लगाकर पर्यावरण संरक्षण के लिए जनसामान्य को प्रेरित किया जाएगा।

जल संरक्षण के लिए दिलाई प्रतिज्ञा

सीओ स्काउट महेशकुमार कालावत ने बताया कि इस अवसर पर एसीईओ प्रतिष्ठा पिलानियां ने सभी स्काउट्स गाइड्स को जल संग्रहण, जल संचयन एवं अनावश्यक जल बर्बाद नहीं करने की प्रतिज्ञा दिलाई। प्रतिज्ञा के बाद स्काउट्स गाइड्स बहुत खुश नजर आए।अतिथियों का स्काउट परंपरा के अनुसार तिलक लगाकर एवं स्कार्फ पहनाकर स्वागत किया। इस अवसर पर अंजू सैनी, गजेंद्रकुमार यादव, मक्खनलाल किरोडिय़ा, मोनासिंह, निर्मला जाट, प्रवीणसिंह, जयपालसिंह, दिनेशकुमार, सुरेंद्रसिंह, बंशीलाल, बनवारीलाल गोदारा, रामदेवसिंह, विकास गुर्जर, किशनलाल, रमेशदेवी, बंशीलाल सहित सैंकड़ों स्काउट गाइड उपस्थित रहे। सभी ने जल शक्ति अभियान के लिए पूर्ण सहयोग करने का वायदा किया।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More