डॉ. दिलीप मोदी शिक्षा रत्न अवॉर्ड से सम्मानित

हरियाणा प्रांत के फतेहाबाद जिले में नहरों के शहर के रूप में प्रसिद्ध टोहाना शहर में राष्ट्र के कोने कोने से आए हुए शिक्षाविदों के बीच एक शानदार समारोह में जीवेम समूह के चेयरमैन डॉ. दिलीप मोदी को शिक्षा में उनके नवाचार तथा क्रांतिकारी विचारों व निजी स्कूलों के हितों के लिए दिन-रात समर्पित भाव से कार्य करने के कारण शिक्षा रत्न अवॉर्ड से सम्मानित किया गया।

डॉ. दिलीप मोदी शिक्षा रत्न अवॉर्ड से सम्मानित
Loading...
Loading...

झुंझुनूं, 22 सितंबर। हरियाणा प्रांत के फतेहाबाद जिले में नहरों के शहर के रूप में प्रसिद्ध टोहाना शहर में राष्ट्र के कोने कोने से आए हुए शिक्षाविदों के बीच एक शानदार समारोह में जीवेम समूह के चेयरमैन डॉ. दिलीप मोदी को शिक्षा में उनके नवाचार तथा क्रांतिकारी विचारों व निजी स्कूलों के हितों के लिए दिन-रात समर्पित भाव से कार्य करने के कारण शिक्षा रत्न अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। हरियाणा के सबसे बड़े संगठन फैडरेशन ऑफ प्राइवेट स्कूल्स एसोसिएशन द्वारा आयोजित इस गरिमापूर्ण समारोह में फैडरेशन के समस्त पदाधिकारियों द्वारा निसा के राष्ट्रीय अध्यक्ष कुलभूषण शर्मा की उपस्थिति में केसरिया साफा पहना कर यह सम्मान दिया गया। इस अवसर पर बोलते हुए डॉ. मोदी ने कहा कि निजी स्कूलों को स्वायत्तता दिए बिना देश में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देना अकेले सरकार के बस का काम नहीं है। देश में सरकार बच्चों को वास्तव में श्रेष्ठ शैक्षणिक वातावरण देना चाहती है तो उसे ईमानदार और पारदर्शिता के सिद्धांतों पर चलते हुए सरकारी व निजी स्कूलों तथा कोचिंग क्लासेस इन तीनों घटकों के बीच के भेदभाव को समाप्त कर समानता लानी ही होगी। शिक्षा को ओपन मार्केट के लिए छोड़े बिना नई शिक्षा नीति के लागू हो जाने पर भी धरातल में सुधार होना असंभव है। गरीब बच्चों को धन के अभाव में सरकारी स्कूलों में ही पढऩा पड़ता है, जहाँ सरकार का आज जो प्रति विद्यार्थी व्यय हो रहा है उससे आधे से भी कम बजट सरकार निजी स्कूलों को दे दे। फिर सरकार किसी भी थर्ड पार्टी से हमारे द्वारा पढ़ाए गए बच्चे का कठिन से कठिन इम्तिहान ले ले। हम पूरे देश में हर बच्चे को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने में समर्थ है। यह कार्यक्रम शनिवार 21 सितंबर को टोहाना में आयोजित किया गया था।